Tuesday, November 30, 2021

रीवा कोरोना ने ‘मानवता’ को भी डसा: पत्नी के इलाज के लिए भटकता रहा BSF का जवान

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram
रीवा कोरोना ने ‘मानवता’ को भी डसा: पत्नी के इलाज के लिए भटकता रहा BSF का जवान

रीवा
BSF का एक जवान कोरोना संक्रमित अपनी पत्नी को लेकर करीब 10 घंटों तक एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल के चक्कर लगाता रहा. जवान ने लोगों से मदद की गुहार लगाई, लेकिन उसे सुनने के लिए कोई सामने नहीं आया. 10 घंटे बाद जब ईटीवी भारत की टीम की नजर रोते बिलखते बीएसएफ के जवान पर पड़ी, तो तत्काल अस्पताल में तैनात सुरक्षा कर्मियों की मदद से उनकी पत्नी को संजय गांधी अस्पताल में भर्ती करवाया
बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच एक बार फिर संवेदनहीनता की तस्वीर नजर आई. रीवा के संजय गांधी अस्पताल से बीएसएफ का जवान अपनी कोरोना संक्रमित पत्नी को लेकर भटक रहा था. 10 घंटे तक वो एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल के चक्कर काटता रहा. किसी ने उसे सही रास्ता नहीं बताया. हर कोई उसे टरकाता रहा
पत्नी के इलाज के लिए भटकता रहा BSF जवान
10 घण्टों तक भटकाते रहे निजी अस्पताल के डॉक्टर
बताया जा रहा है कि बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स त्रिपुरा में तैनात सीधी जिले के रहने वाले विनोद तिवारी की पत्नी कोरोना की चपेट में आ गई. उन्हें अस्पताल में भर्ती कराने के लिए बीएसएफ का जवान रीवा आया. 10 घंटे तक वो भटकता रहा. सिस्टम से थक-हार कर परेशान जवान ने मीडिया के लोगों से मदद की गुहार लगाई. ईटीवी भारत की टीम ने अस्पताल प्रबंधन से बात की. इसके बाद जवान की पत्नी को संजय गांधी अस्पताल में भर्ती करवाया।
close