Tuesday, November 30, 2021

रीवा/नईगढ़ी- व्यापक पैमाने पर भ्रष्टाचार मामला जनपद पंचायत नईगढ़ी काम बताया जा रहा है?

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram
    Rewa

🔶️जनपद पंचायत नईगढ़ी के  दो दर्जन से अधिक पंचायतों के सरपंच एवं सचिव पुराने कार्य के नाम पर राशि का आहरण।
 🔷️नईगढ़ी जनपद में कई फर्जी वेल्डर जो अपने रिश्तेदार एवं सगे संबंधित के नाम पर करोड़ों राशि निकाली जा रही है।
🔺️नईगढ़ी जनपद पंचायत की ग्राम पंचायतों में व्यापक पैमाने पर अनियमितता
जहां सरकार एक ओर दावा करती है एवं  प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह कहते हैं कि भ्रष्टाचारियों को 100 फिट नीचे दबा देंगे। जहां प्रदेश सरकार के दावे खोखले साबित हो रहे हैं और छोटे कर्मचारी से लेकर आला अधिकारी की मिलीभगत से भारी तौर पर भ्रष्टाचार किया जा रहा है ऐसा ही मामला मध्य प्रदेश के  रीवा जिले के जनपद पंचायत नईगढ़ी में इतना भ्रष्टाचार मचा है। कि ग्राम पंचायतों के सचिव व सरपंच लोग पुराने कार्य को नया दिखाकर उसके नाम पर भारी भ्रष्टाचार किया जा रहा है ग्रामीण विकास के नाम पर हर साल करोड़ों रुपए खर्च तो किए जा रहे हैं। लेकिन विकास दिखता कहीं नहीं  एवं ग्रामीण क्षेत्रों में विकास के नाम पर विनाश किया जा रहा है।शासन की जनकल्याणकारी  योजनाएं खास तौर पर शौचालय, वृक्षारोपण,सड़क निर्माण, नवीन तालाब निर्माण, अधूरा एवं गुणवत्ता विहीन भवन निर्माण, कूप निर्माण ,मेंढ बाधा शांति धाम निर्माण, प्रधानमंत्री आवास योजना ,विद्युतीकरण के नाम पर जमकर बंदरबांट हुआ है। वहीं फर्जी मास्टर, वहीं फर्जी  वेल्डर अपने  रिश्तेदारों एवं  परिवारों  के नाम पर  बनाकर  राशि  धड़ाधड़ निकाली जा रही हैं।और शासन के प्रकरण एवं नियमों के विपरीत हुए हैं कार्य को भारी अनियमितता साथ ही जनपद कार्यालय में पदस्थ उपयंत्री की से लेकर कंप्यूटर ऑपरेटर  सहित उससे संबंधित अधिकारी को  20 से 30% कमीशन देकर फर्जी बिल वाउचर कमीशन  ब करोड़ों रुपए राशि निकाला गया जो जांच का विषय है वही जनपद अंतर्गत 2 दर्जन से अधिक ग्राम पंचायतों में काफी तौर पर भ्रष्टाचार सामने आए है। वही जनपद सीईओ  जांच के नाम पर नाम पर  खोखला साबित हुआ है। वहीं अगर ग्रामीणों के द्वारा सीएम हेल्पलाइन एवं सीईओ के पास शिकायत की जाती है।तो वह शिकायतों को दबा दिया जाता है।ना ही जानकारी की सही शिकायत को सुना नहीं जाता है।वही ग्रामीणों की भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। वहीं इस समय देखा जाए तो ग्राम पंचायतों के अंतर्गत कई पंचायतों में पानी की किल्लत देखी गई है।जहां पर सरपंच सचिव एवं में उप यांत्रिकी की मिलीभगत के कारण व्यापक तौर पर भ्रष्टाचार किए जा रहे हैं। वही ग्राम पंचायतों में जैसेकोट,जोधपुर , पहिलपार,हकरिया सोनवर्षा,पिपरा, बरोहा, चकराटोला, जोरौट,अमरिती डिहिया,बेला कमोद, फुलहा, रामपुर ,डूबी,भदवाल, हिनौती,मनकहरी, बहेरा नानकार, खर्रा पैकनगांव,भरिगवा, बहुती, कोरिगवा,चिल, बधावा भाईबाट इसके अलावा आने ग्राम पंचायत और कहीं पंचायत शामिल है जो जनपद पंचायत नईगढ़ी के अंतर्गत पर व्यापक भ्रष्टाचार के भेंट चढ़ी हुई है।जो जांच के नाम पर खानापूर्ति की जा रही है कि जाती है सामाजिक संगठन ने जिला सीईओ एवं कलेक्टर एवं कमिश्नर से मांग की गई है की पंचायतों की जांच कराई जाए और दोषियों के खिलाफ कार्यवाही एवं f.i.r. की जाए।
नोट अगले अंक में फर्जी वेल्डर एवं फर्जी  बिल वाउचर एक-एक पंचायत वार् प्रकाशित विस्तार से किया जाएगा।
close