Monday, November 29, 2021

शहर की अस्पतालों का घटेगा भार, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में आक्सीबेड तैयार

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram

रीवा। जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच शहर की अस्पतालों पर मरीजों का भार बढ़ता जा रहा है। इस पर कमी लाने के लिए अब जिले के विभिन्न हिस्सों में कोविड हास्पिटल बनाए जा रहे हैं। जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में आक्सीबेड तैयार किए जा रहे हैं ताकि गंभीर मरीजों को उनके क्षेत्र के अस्पताल में ही आक्सीजन के साथ उपचार दिया जा सके। रीवा जिले में आक्सीजनयुक्त बेडों की संख्या में वृद्धि के लिए 12 कोविड सेंटर (सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों) में तैयार किए गए हैं। यह आक्सीजन युक्त बेड तैयार करनें का निर्णय आपदा समिति की बैठक में लिया गया था।
जि़लें 12 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों को कोविड सेंटर के रूप तैयार किया जा रहा है, उक्त केंद्रों में बुनियादी सुविधाओं के साथ साथ कोविड सेंटर के रूप में आवश्यक आक्सीजन उक्त बेड की सुविधा, प्रशिक्षित स्टाफ, आवश्यक उपकरण की व्यवस्था की गई हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के प्रभावी संचालन हेतु प्रत्येक केंद्रों में 2 लैब टेक्निकल स्टाफ, 3 सपोर्ट स्टाफ, 3 सफाई कर्मचारियों की नियुक्ति की गई हैं एवं जि़लें में संचालित सभी फीवर क्लीनिक में एक आरआरटी टीम की नियुक्ति की गई। जिससे इस महामारी के संक्रमण को कम किया जा सके।

– इन विधायकों की राशि से कोविड केयर हास्पिटल बने
जिले के विधायकों द्वारा प्रदत्त राशि जिसमें गिरीश गौतम अध्यक्ष विधानसभा म.प्र. एवं विधायक देवतालाब से 50 मशीन, नागेंद्र सिंह विधायक गुढ़ से 20 मशीन, पंचूलाल प्रजापति विधायक मनगवां से 20
मशीन, दिव्यराज सिंह विधायक सिरमौर से 20 मशीन, केपी त्रिपाठी विधायक सेमरिया से 30 मशीन, प्रदीप पटेल विधायक मऊगंज से 20 मशीन एवं श्यामलाल द्विवेदी विधायक त्योंथर से 20 मशीन क्रय करने के लिए राशि प्रदान की गई थी जिसमें से आक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन क्रय हेतु बनी समिति के अनुमोदन उपरांत, डॉ इलैयाराजा टी कलेक्टर रीवा द्वारा उक्त जिम्मेदारी स्वप्निल वानखड़े मुख्यकार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत रीवा को दी गई थी। जिसमें शासन के नियमानुसार कार्यवाही करते हुए अभी तक 70 मशीन रीवा को प्राप्त हो चुकी हैं। जिसनें 140 बेड तैयार किये जा रहें है। 30 मशीनें रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ल की निधि से प्राप्त हो चुकी हैं तथा 40 मशीनें बुधवार को प्राप्त हुई हैं जिससे 80 बेड अगले 48 घण्टे में तैयार कर लिए जाएंगे।

– आक्सीजन सिलेंडर की जरूरत नहीं होगी
कंसंट्रेटर मशीन को ऑक्सिजन सिलेंडर की ज़रूरत नहीं है। ये मशीन स्वयं ऑक्सीजन बनाएंगी जिससे ऑक्सीजन की कमी नही होगी । जिस कारण ऑक्सीजन टैंकर पर निर्भरता कम होगी तथा कोविड पीडि़त को लगातार ऑक्सीजन की उपलब्धता बनी रहेंगी क्षेत्र के सभी विधायकों के प्रयास से अगले कुछ समय मशीन की उपलब्धता अनुसार शेष 130
मशीन आएंगी जिससे 260 ऑक्सीजन युक्त बेड की क्षमता बढ़ाने का प्रयास जारी हैं।

– बेड की ऐसे होगी उपलब्धता
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मऊगंज में कोविड के दस में छह आक्सीबेड होंगे। हनुमना में दस में पांच आक्सीबेड, नईगढ़ी में पांच, त्योंथर में तीन, चाकघाट में पांच, जवा में छह, सिरमौर में पांच, गोविंदगढ़ में चार, गुढ़ में एक बेड तैयार किया गया है। अन्य स्थानों पर भी आक्सीबेड की संख्या बढ़ाए जाने की तैयारी चल रही है।
—-

विधायक निधि से आक्सीजन की व्यवस्था की जा रही है। सभी विधायकों की ओर से दी गई राशि से आक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनें खरीदी जा रही हैं। 30 पहले थी, 40 और प्राप्त हुई हैं। अब सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी कोविड हास्पिटल बनाए जा रहे हैं, जिससे रीवा शहर नहीं आना पड़े। शेष मशीनें भी जल्द प्राप्त होंगी।
स्वप्रिल वानखेड़े, सीइओ जिला पंचायत रीवा

from Patrika : India’s Leading Hindi News Portal https://ift.tt/3eIyFP4
https://ift.tt/3u5h7Dn

close