Tuesday, November 30, 2021

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री 6 नवम्बर तक हिरासत में

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram

मनी लॉन्ड्रिंग केस में अनिल देशमुख से ईडी ने की थी 12 घंटे की लंबी पूछताछ

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने धनशोधन (मनी लॉन्ड्रिंग ) के एक मामले में गिरफ्तार महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को मंगलवार को एक विशेष अवकाशकालीन

अदालत में पेश किया. ईडी ने देशमुख को अपर सत्र

न्यायाधीश पी बी जाधव के समक्ष दोपहर में पेश किया. विशेष अदालत ने महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री अनिल देशमुख को 6 नवंबर तक के लिए ईडी की कस्टडी में भेज दिया है. प्रवर्तन निदेशालय ने देशमुख से 12 घंटे करने के बाद सोमवार देर रात उन्हें गिरफ्तार कर लिया था.

यह लगा आरोप

ईडी के अनुसार, राज्य के गृह मंत्री के रूप में सेवाएं देते हुए, देशमुख ने अपने पद का कथित तौर पर दुरुपयोग किया और बर्खास्त पुलिस अधिकारी सचिन वाजे के जरिए मुंबई में विभिन्न ‘बार’ और रेस्तरां से 4.70 करोड़ रुपये वसूले थे. देशमुख के परिवार की ओर से नियंत्रित नागपुर स्थित एक शैक्षणिक न्यास, ‘श्री साईं शिक्षण संस्थान’ में | इस पैसे का कथित तौर पर इस्तेमाल किया गया. | देशमुख ने अपने ऊपर लगे आरोपों को लगातार खारिज करते हुए कहा कि एजेंसी का पूरा मामला एक दागी पुलिस वाले ( वाजे) के दुर्भावनापूर्ण दिए बयानों पर आधारित है.

1000 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति सीज

महाराष्ट्र में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने 1000 करोड़ की संपत्ति सीज की है. इन संपत्तियों के लिंक कथित तौर पर महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम अजित पवार से जुड़े हैं. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने पांच संपत्तियों को सीज किया है, जिनकी कीमत एक हजार करोड़ रुपये से ज्यादा है. इनमें एक शुगर फैक्ट्री, साउथ दिल्ली स्थित एक फ्लैट शामिल है.

close